डिंडोरी म.प्र फर्जीवाड़े के हैरान करने वाले खुलासे:मां दुर्गा का पिता बनकर मंदिर की बेशकीमती जमीन को हड़पा, कलेक्टर के आदेश के बाद जमीन वापस, बसपा अध्यक्ष ने की कार्रवाई की मांग

0
78

डिंडोरी म.प्र
फर्जीवाड़े के हैरान करने वाले खुलासे:मां दुर्गा का पिता बनकर मंदिर की बेशकीमती जमीन को हड़पा, कलेक्टर के आदेश के बाद जमीन वापस, बसपा अध्यक्ष ने की कार्रवाई की मांग

 

 

 

 

डिंडौरी में मंदिर की कीमती जमीन को हड़पने के लिए एक व्यक्ति मां दुर्गा का कथित पिता बन गया है। मामला करंजिया तहसील क्षेत्र अंतर्गत झनकी ग्राम का है।

 

 

 

 

जहां करीब 50 वर्षों से दुर्गा मंदिर के नाम पर सरकारी रिकार्ड में लगभग 6 एकड़ जमीन दर्ज थी, लेकिन वर्ष 2018-19 में मंदिर के केयरटेकर मुलई सिंह ने तत्कालीन राजस्व अमले के साथ सांठगांठ कर मंदिर की जमीन को सरकारी दस्तावेजों में अपने नाम करवा लिया।

 

 

 

हैरान करने वाली बात तो यह है की जमीन हड़पने के लिए मुलई सिंह खुद को मां दुर्गा का पिता दर्शा दिया और तत्कालीन राजस्व अमला भी इस फर्ज़ीवाड़े में पूरी तरह से संलिप्त रहा। मां दुर्गा मंदिर की जमीन के नामपर हुए फर्जीवाड़े की जानकारी लगते ही जिलाप्रशासन के ओर से रिकार्ड दुरुस्त कर उक्त जमीन वापस दुर्गा मंदिर के नाम पर दर्ज कर दी गई है। तो वहीं तात्कालीन पटवारी को शोकाज नोटिस जारी कर तलब किया गया है।

 

 

 

दरअसल डिंडौरी कलेक्टर रत्नाकर झा के ओर से जिले में मंदिर व ट्रस्टों की जमीन को कब्जा मुक्त करने के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है। इसी अभियान के दौरान फर्जीवाड़े के हैरान करने वाले खुलासे हो रहे हैं।

 

 

 

कुछ दिनों पहले ही अमरपुर तहसील के रामगढ़ स्थित श्री राधाकृष्ण मंदिर के नाम पर दर्ज 30 एकड़ जमीन का फर्जीवाड़ा उजागर हुआ था। इस मामले में भी मंदिर का केयरटेकर खुद को भगवान राधाकृष्ण का पिता दर्शाकर राजस्व अमले के साथ मिलीभगत कर 30 एकड़ जमीन अपने नाम करवा ली थी।

 

 

 

जिस पर संज्ञान लेते हुए जिला प्रशासन ने रिकार्ड दुरुस्त कर जमीन वापस मंदिर के नाम दर्ज करा दिया है। एसडीएम बलवीर रमण ने बताया की अब तक चार मंदिर व ट्रस्ट की जमीन के रिकार्ड में सुधार किया गया है। वहीं इन मामलों में लापरवाह राजस्व कर्मचारियों को नोटिस जारी कर तलब किया गया है।

 

 

 

डिंडौरी जिले में मंदिर व ट्रस्ट की जमीन में हुए फर्ज़ीवाड़े पर प्रशासन की कार्रवाई काबिले तारीफ है। इस मामले में बहुजन समाज पार्टी के जिला अध्यक्ष असगर सिद्दीकी ने कहा कि मंदिर ट्रस्ट की जमीन षड्यंत्र पूर्वक राजस्व अधिकारियों के ओर से जमीन दूसरे के नाम पर ट्रांसफर कर दिया गया। केवल पटवारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया जा रहा है। कार्रवाई तो संलिप्त अधिकारियों के खिलाफ भी होनी चाहिए।

_इंडियन टीवी न्यूज़ संवाददाता मो0 सफर ज़िला डिंडोरी मध्य प्रदेश_

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here