मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद के तत्वाधान में आदि गुरु श्री शंकराचार्य का प्रकट उत्सव

0
93

मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद के तत्वाधान में आदि गुरु श्री शंकराचार्य का प्रकट उत्सव

शिवपुरी
खनियाधाना मेंधूमधाम से मनाया गया जिसमें मुख्य अतिथि सीईओ जनपद पंचायत द्वारा सर्वप्रथम आदि गुरु शंकराचार्य की मूर्ति पर माल्यार्पण किया एवं सरस्वती जी का पूजन किया स्वाभिमान ट्रस्ट के नीरज सिंह वक्ता द्वारा आदि गुरु शंकराचार्य के चरित्र पर प्रकाश डाला गया।

 

 

 

 

 

और उन्होंने बताया कि शंकराचार्य आदि पुरुष थे भगवान शिव का अवतार थे उनका जन्म केरल में हुआ था उनकी माता को भगवान शिव ने आशीर्वाद दिया था तथा सपने में कहा था मैं तेरे याद जन्म लूंगा लेकिन मेरी आयु कम होगी कहते हैं 3 वर्ष की उम्र में उन्हें चारों वेदों का ज्ञान प्राप्त हो गया था 7 वर्ष की उम्र में उन्होंने मां नर्मदा के दर्शन किए थे

 

 

 

 

एवं नर्मदा अष्टक के रचयिता आदि गुरु शंकराचार्य हैं उन्होंने पूरे भारत का भ्रमण किया जिसमें अलग-अलग जाकर चारों दिशाओं में चार मठ स्थापित किए जिन्हें आज बद्रीनाथ द्वारका धाम श्री शंकराचार्य 7 वर्ष की आयु से ही पूरे भारत का भ्रमण करना शुरू कर दिया था एवं जगह-जगह जाकर उन्होंने हिंदू धर्म की स्थापना की जब हिंदू धर्म पर संकट छाया हुआ था हिंदू धर्म के अनुयाई बहुत कम बचे हुए थे हिंदू धर्म को बढ़ाने में आदि गुरु शंकराचार्य का बहुत महत्वपूर्ण योगदान है आज भी उनके नाम की उपाधि दी जाती है ।।

 

 

 

 

 

इस कार्यक्रम के बाद सीईओ द्वारा नल जल योजना के बारे में विस्तृत बताया गया एवं जन संरक्षण के कार्य करने के लिए कहा गया इस कार्यक्रम में देवी शंकर शर्मा ने बताया कि हमारे यहां की करीब 7 पशु दल समिति एवं वॉलिंटियर्स वहां पर मौजूद थे ब्लॉक कोऑर्डिनेटर देवी शंकर शर्मा
गणेश सोनी जिला शिवपुरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here