आलमनगर-मझिला (हरदोई *** पंजाब नेशनल बैंक के बैंक मित्र ने धोखाधड़ी कर निकाले पैसे। खाता धारक ने लगाया आरोप अभी तक नहीं मिले पैसे

0
111

*पंजाब नेशनल बैंक के बैंक मित्र ने धोखाधड़ी कर निकाले पैसे। खाता धारक ने लगाया आरोप अभी तक नहीं मिले पैसे।* इंडियन टीवी न्यूज़ से असिस्टेंट ब्यूरो ममता वर्मा

 

 

 

 

आलमनगर-मझिला (हरदोई) पंजाब नैशनल बैंक के उपभोक्ताओं के कई बार मे लगभग 65 हजार रुपये फ्रॉड करके निकाल लिए। खाताधारक के पैरों के नीचे से जमीन तब खिसक गई जब खाताधारक के खाते से 09 बार मे सारा पैसा धीरे निकल गया और खाता खाली हो गया। बता दें चौकी आलमनगर छेत्र के ग्राम पंचायत चेना के विजेंदर सिंह पुत्र बाबू का पंजाब नैशनल बैंक में खाता संख्या से 2286000100043033 लगभग 61000 रुपये निकल गए ।।

 

 

 

 

जिसकी सूचना तहसील से लेकर जिला मुख्यालय तक दी लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हो सकी। पीड़ित ने बाइट में बताया कि मेरे ही गांव के पंजाब नेसनल बैंक के बैंक मित्र इंद्रजीत पुत्र रामपाल ने पीड़ित विजेंदर पर तीन चार बार फिंगर प्रिंट स्कैन कराया और कहा इस समय सर्वर नहीं काम कर रहा है इस बजह से लेनदेन नहीं हो पाएगा आप कल पैसा लेने आना खाताधारक को पैसों की बहुत आवश्यकता थी तो उसने में बैंक में अपना विड्राल भरकर पैसे निकालने के लिए जमा किया तो बैंक के कर्मचारियों ने कहा कि आपके खाते में कोई बकाया राशि शेष नहीं बची तो पीड़ित के पैरों के नीचे से जमीन खिशक गई

 

 

 

 

 

कि मेरे खाते में कोई पैसा नहीं बचा पीड़ित ने इसकी शिकायत मेन ब्रांच पंजाब नेसनल बैंक से की तो उन्होंने ने पीड़ित को ही उल्टा धमका कर भगा दिया जिससे पीड़ित काफी भयभीत है। इससे जाहिर होता है कि बैंक मित्र इंद्रजीत और बैंक के कर्मचारियों की मिलीभगत से से ही पैसा निकाला गया। अब जनता के सामने यह सबसे बड़ा मुद्दा हो गया है की बैंको में भी पैसा सुरक्षित नहीं महसूस कर रहे हैं

 

 

 

 

 आखिर कहां पैसा जमा किया जाए। आज कल इस तरह की धोखाधड़ी के मामले सामने आते रहते हैं जिससे बैंको पर से जनता का भरोशा उठता जा रहा है अगर इसी तरह से उपभोक्ताओं से धोखाधड़ी होती रही तो कोई अपना पैसा किसी भी बैंक में नहीं जमा करेगा इस धोखाधड़ी से निकाले गए पैसों की उच्च अधिकारियों से जांच कराई जाए तो बैंक मित्र सहित बैंक के कर्मचारियों तक संलिप्त नजर आएंगे। अब देखना यह की योगी सरकार में इस गरीब का पैसा मिल पाएगा या सिर्फ जांच के नाम पर खाना पूर्ति करके इस मामले को शांत कर दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here