हरदोई*****धारा 144 का हवाला देते हुए पुलिस ने धरना प्रदर्शनकारियों को खदेड़ा*। *धरना प्रदर्शन कर रहे किसानों को स्थानीय पुलिस ने खदेड़ा, धारा 144 का दिया हवाला*।

0
83

*ब्रेकिंग न्यूज़ जिला हरदोई*

*इंडियन टीवी न्यूज़*

*हरदोई ब्यूरो चीफ रफीक अहमद की विशेष रिपोर्ट*

*धारा 144 का हवाला देते हुए पुलिस ने धरना प्रदर्शनकारियों को खदेड़ा*।

*धरना प्रदर्शन कर रहे किसानों को स्थानीय पुलिस ने खदेड़ा, धारा 144 का दिया हवाला*।

 

 

 

 

बेनीगंज (हरदोई )।विकासखंड अहिरोरी के अंतर्गत मंगलवार को हरदोई सीतापुर मार्ग पर बढ़ईयन पुरवा के पास स्थित पोल्ट्री फार्म में गंदगी व मक्खियों की समस्याओं से ग्रसित होकर बीते मंगलवार को भारतीय किसान मजदूर यूनियन दशहरी संगठन द्वारा एक दिवसीय सांकेतिक धरना प्रदर्शन को लेकर किसान इकट्ठा हो रहे थे।

 

 

 

 

जिसकी भनक लगते ही क्षेत्रीय पुलिस भारी बल के साथ धरना स्थल पर पहुंचकर धारा 144 का हवाला देते हुए किसानों को खदेड़ दिया। और मौके पर मौजूद किसान नेता जिला अध्यक्ष हरदोई पुनीत मिश्रा सहित कई किसान नेताओं को हिरासत में ले लिया। जिसकी सूचना मिलते ही कुछ ही समय बाद संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनीष यादव धरना स्थल पर पहुंचे।जहां से पहले से ही हरियावां सीओ सहित कई थानों का पुलिस बल तैनात था।उक्त धरने के विषय पर राष्ट्रीय अध्यक्ष व प्रशासन के बीच ज्ञापन देने को लेकर काफी देर तक बातचीत हुई।

 

 

 

 

किसान नेताओं की तरफ से यह भी बताया गया कि इस एक दिवसीय सांकेतिक धरना प्रदर्शन की जानकारी उप जिला अधिकारी सदर को ज्ञापन के माध्यम से अवगत कराया गया था। जिस पर जिम्मेदार अधिकारियों ने ध्यान नहीं दिया। अधिकारियों किसान नेताओं के बीच बातचीत का कोई विकल्प ना निकल सका। जिसके बाद राष्ट्रीय अध्यक्ष अपने किसान नेताओं के साथ वहीं धरने पर बैठ गए, तत्पश्चात पुलिस ने उनको भी हिरासत में ले लिया। वहीं पर क्षेत्रीय ग्रामीणों ने इस पुलिस के तानाशाही रवैए पर काफी नाराजगी व्यक्त की है। पोल्ट्री फार्म की गंदगी व मक्खियों की बनी बड़ी समस्या के बारे में बताया कि घरों में बच्चों को खाने को खाना भी दुश्वार हो चुका है।

 

 

 

 

पोल्ट्री फार्म से निकली मरी मुर्गीयां पास में बने गड्ढों में फेंक दी जाती है। जिससे उसमें से निकलने वाली बदबू आने से बीमारी उत्पन्न होती है।हम सब ग्रामीण जन इस जटिल समस्या से बहुत परेशान हो चुके हैं। आखिरकार जिला प्रशासन कब तक कान में रुई लगा कर सोता रहेगा।

 

 

 

वहीं पर स्थानीय पुलिस का कहना है कि जिले में धारा 144 पूर्णतया लागू है। उक्त धारना प्रदर्शनकारियों को कोई भी अनुमति प्रदान नहीं करने के बावजूद भी जबरन धरना प्रदर्शन कर रहे थे। जिससे कि क्षेत्र में अशांति का माहौल व्याप्त हो सकता है। जो कि कानूनन उल्लंघन है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here