डिंडौरी म.प्र..…….. सीईओ और सहायक यंत्री के खिलाफ कर्मचारियों ने खोला मोर्चा

0
138

डिंडौरी म.प्र..……..
सीईओ और सहायक यंत्री के खिलाफ कर्मचारियों ने खोला मोर्चा

 

 

डिंडोरी जिले में प्रशासनिक व्यवस्था व प्रशासन की भूमिका को लेकर अब कर्मचारी भी लामबंद होने लगे हैं l जिले में प्रशासनिक स्तर पर चर्चा तो यह है कि जो अधिकारी मैनेजमेंट में जितनी क्षमता रखता है उस अधिकारी का न शासन न प्रशासन कोई भी बाल बांका नहीं कर सकता l

 

 

 

यही कारण है कि तमाम तरह के आरोप लगने के बाद भी ऐसे अधिकारियों व आरोपों की न जांच होती है और न ही जिला प्रशासन द्वारा कोई ध्यान दिया जाता l जिसका परिणाम यह है कि अधिकारी लगभग निरंकुश हो चुके हैं l सरकार का दावा कर रही है कि भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन के लिए सरकार वचनबद्ध है किंतु लगता है कि यह केवल कहने के लिए है l क्योंकि इन दिनों जिले में जो चल रहा है वह भ्रष्टाचार युक्त प्रशासन का कामकाज चल रहा दिखाई देता है l

 

 

 

 

 सरकार के इस अमृत काल में जनता को भले पीने का पानी नसीब ना हो पर प्रशासनिक अधिकारी सरकार का समूचा अमृत पीने में लगे हुए हैं l इसके दर्जनों क्या सैकड़ों उदाहरण मिल जाएंगे l ताजा उदाहरण जिले की बाजाग जनपद पंचायत के कर्मचारियों के विरोध को ही ले लें l जनपद पंचायत के कर्मचारी जनपद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं मनरेगा के सहायक यंत्री के खिलाफ मोर्चा खोल चुके हैं l मध्यप्रदेश शासन पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा 6/4/2022 बजाग में पदस्थ प्रभारी मुख्य कार्यपालन अधिकारी प्रदीप कुमार का स्थानांतरण प्रभारी मुख्य कार्य अधिकारी समनापुर कर दिए जाने के बाद भी प्रशासन द्वारा उन्हें आज दिनांक तक भार मुक्त नहीं किया गया l

 

 

 

 

 

बजाज जनपद पंचायत के कर्मचारियों ने बताया कि अधिकारी अपनी मनमानी करते हैं वह अपने तरीके से अपनी शर्तों पर पैसों की खुलेआम मांग करते हैं l जिसके कारण शासन की योजनाओं के निर्माण कार्यों की स्थिति दयनीय बनी हुई है l जनपद के कर्मचारियों ने डिंडोरी कलेक्टर को पत्र लिखकर प्रभारी मुख्य कार्यपालन अधिकारी को तत्काल बाहर मुक्त करने के लिए पत्र भी लिखा गया है l वहीं पंजाब जनपद में पदस्थ मनरेगा की सहायक यंत्री आरजी श्रीवास्तव जो मूल रूप से सिंचाई विभाग के कर्मचारी हैं

 

 

 

 

 

उनके संबंध में जो जानकारी है उसके अनुसार इन्होंने कभी विभाग में नौकरी ही नहीं की है l अपने दांवपेच के चलते श्रीमान जी ने अपनी नौकरी प्रतिनियुक्ति में करके ही निकाल दी और अब सितंबर में रिटायर होने वाले हैं l जिन के कामकाज को लेकर भी बजाग जनपद पंचायत के कर्मचारियों ने मोर्चा खोल दिया है l मनरेगा के सहायक यंत्री आरजी श्रीवास्तव द्वारा अपने कार्य क्षेत्र में बोल्डर चेक डैम निर्माण के नाम की गई धांधली की शिकायतों बा खबरों को लेकर प्रमुख सचिव द्वारा कलेक्टर को पत्र लिखकर बोल्डर चेक डैम निर्माण में की गई धांधली की जांच कराने को लेकर पत्र लिखा गया है l मुख्य सचिव के पत्र के बाद कलेक्टर ने भी कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग को जांच की जिम्मेदारी सौंपी है l सहायक यंत्री के संबंध में कहा जाता है कि इनका सिर्फ एक ही उद्देश्य है पैसा और वह पैसा कहां से आता है

 

 

 

 

 

इससे उन्हें कोई मतलब नहीं वैसा ही इनका भगवान है l पैसों के बल पर ही अब तक यह किसी ना किसी तरह मनरेगा में जमे हुए हैं l जबकि सिंचाई विभाग द्वारा इनकी वापसी को लेकर अनेकों पत्र मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत व कलेक्टर को लिखे भी जा चुके हैं l किंतु इस इनकी वापसी नहीं हुई और अब तो चुनाव का एक बहाना प्रशासन के लिए है ऐसे समय में किसी को हटाना या किसी की वापसी हो पाएगी यह कहना मुश्किल है l

इंडियन टीवी न्यूज़ संवाददाता मो0 सफर ज़िला डिंडोरी मध्य प्रदेश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here