खरगोन – मंजीत ग्लोबल कंपनी आवास परिसर के सामने 6 दिन से धरना देकर अनशन पर बैठे सेंचुरी के मजदूरों को विधायक सचिन यादव ने पानी पिलाकर अनशन छुड़वाया

0
27

खरगोन – मंजीत ग्लोबल कंपनी आवास परिसर के सामने 6 दिन से धरना देकर अनशन पर बैठे सेंचुरी के मजदूरों को विधायक सचिन यादव ने पानी पिलाकर अनशन छुड़वाया

 

 

 

कसरावद विधायक सचिन यादव द्वारा सेंचुरी कंपनी आवास परिसर में दो दिन के अंदर रखने का आश्वासन भी दिया

जिला पंचायत सदस्य प्रत्याशी कैलाश दरबार एवं जनपद पंचायत सदस्य प्रत्याशी मुकेश पटेल के चुनाव प्रचार जनसंपर्क के दौरान सोमवार को 11 बजे क्षेत्रीय विधायक सचिन यादव ने मुंबई आगरा राष्ट्रीय राजमार्ग मगरखेड़ी सत्राटी स्थित भोईंदा रोड़ पर मौके पर धरना स्थल पर पहुंच कर सेंचुरी कंपनी आवास परिसर के बाहर श्रमिक अनशन पर बैठे मजदूर को दिलासा देते हुए पानी पिलाकर अनशन छुड़वाया। एवं उनकी मांग मानते हुए कंपनी परिसर में अंदर करवाने का आश्वासन भी दिया। बता दे की सेंचुरी कंपनी पिछले 4 सालों से बंद पड़ी है जिसे वर्तमान में मनजीत ग्लोबल कंपनी संचालित कर रही है। 22 जून को शाम को 6:00 बजे रमेश सिंह मजदूर जो कि सब्जी लेने के लिए कम्पनी आवास परिसर से बाहर गया था उसे वापस आने में कालोनी में सिक्योरिटी गार्ड द्वारा कंपनी परिसर में आने सर मना कर दिया गया था।इस मामले में खलटाका पुलिस चौकी एवं एसडीएम संघप्रिय को भी आवेदन दिए गए है। आज तक उन आवेदनों पर कोई भी कारवाई नहीं हुई है।

 

 

 

 

 

इसी बात को लेकर सेंचुरी कंपनी के मजदूर पिछले 6 दिन से गेट पर धरना देकर अनशन कर रहे थे इसी क्रम में जनसंपर्क के दौरान कसरावद विधायक महोदय ने तुरंत संज्ञान लेते हुए मजदूर से मिलकर उसकी समस्या का निराकरण करवाया। और उसको कालोनी में चार दिन के अंदर करवाने का आश्वासन भी दिया।
सेंचुरी के मजदूर राजकुमार दुबे ने बताया कि 22 जून से रमेश सिंह किशोर समुद्रे राम कैलाश ये तीनों कंपनी से बाहर थे। मनजीत ग्लोबल कंपनी लगातार बार-बार कोर्ट के आदेश की अवमानना कर रही है कभी गेट पर रोक देना कॉलोनी के अंदर जाने नहीं देना सिक्योरिटी गार्ड द्वारा हमेशा मजदूरों को परेशान किया जाता है। दुबे ने बताया कि अगर विधायक जी की बात 4 दिन के अंदर नहीं मानी तो हम बड़े आंदोलन के लिए उतारू हो जाएंगे।

खरगोन से र‌ऊफ ख़ान की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here