पदमपुर श्री गंगानगर/45 फीट गहरे ट्यूबवेल को ठीक करने उतरा युवक, बाहर नही आया तो दूसरा उतरा, दोनों बेहोश, दो घंटे बाद रस्सी से निकाला .. शुक्र है जान बची सुरक्षित इसलिए:  पुलिस ने बिना देरी किए देसी जुगाड़ से दो युवकों को ट्यूबेल में उतारा तो बच गयी जान

0
20

इंडियन न्यूज श्री गंगानगर संवाददाता पवन कुमार जोशी

45 फीट गहरे ट्यूबवेल को ठीक करने उतरा युवक, बाहर नही आया तो दूसरा उतरा, दोनों बेहोश, दो घंटे बाद रस्सी से निकाला .. शुक्र है जान बची

सुरक्षित इसलिए:  पुलिस ने बिना देरी किए देसी जुगाड़ से दो युवकों को ट्यूबेल में उतारा तो बच गयी जान

 

 

 

पदमपुर( श्री गंगानगर)
पदमपुर की गोशाला में बने ट्यूबेल रिपेयरिंग करने उतरे दो मज़दूर बेहोश हो गए। पास खड़े एक मोटर मिस्त्री के शोर मचाने पर दो घंटे बाद दोनों को सुरक्षित निकाल लिया गया। घटना गुरुवार शाम 4 बजे की है। दोनों को तुरन्त एम्बुलेंस से पदमपुर चिकित्सालय लाया गया। जहां उन्हें हालत गम्भीर होने पर उन्हें गंगानगर रैफर कर दिया गया।  इससे पहले ट्यूबवैल में दो जनो गिरने की सूचना मिलते ही लोग  मौके पर एकत्र हो गए। उन्होंने इस बारे में उपखंड प्रशासन को सूचना दे दी। मोके पर एसडीएम सुभाष कुमार, ईओ शैलेन्द्र गोदारा, बीसीएमओ मुकेश मित्तल, एसएचओ राममकेश मीना, तहसीलदार महेंद्र रतनू सहित पूरे प्रशासनिक अमला पहुंच गया।

 

 

 

 

 

मामले के अनुसार गुरुवार शाम 4 बजे शहर के बीच बनी श्रीगोशाला में बने ट्यूबेल की मोटर को रिपयरिंग के लिए  गोशाला में कार्यरत गुरविंदर (30) पुत्र विचित्र सिंह निवासी चानना धाम  45 फ़ीट गहरे ट्यूबेल में उतरा। 5 मिन्ट बाद गुरविंदर की आवाज आना बंद हो गयी तो उसका सहयोगी  विकास पुत्र सुदिन यादव निवासी यूपी हाल निवास गोशाला उसे बचाने ट्यूबेल में उतर गया। थोड़ी देर में दोनों ही जनो की कोई आवाज नही आई तो पास खड़े एक मोटरमिस्त्री ने  शोर मचाया ओर मामले की जानकारी गोशाला प्रबंधन को दी। इसके बाद प्रशाषन को सूचना दी गयी। आखिरकार 6 बजे दोनों जनो को सुरक्षित निकाल लिया गया। हादसे में गुरविंदर को सर में गहरी चोट लगी है। ट्यूबेल में सम्भवतया जहरीली गैंस होने के चलते दोनों युवक अचेत हो गिर गए थे।

शाबाश पुलिस : डेढ़ घंटे तक ट्यूबेल में ऑक्सीजन पहुंचा गैंस कम करने  का होता रहा इंतज़ार..पुलिस के क्विक डिसीजन से दो युवक ट्यूबेल में उतरे, 20 मिनट में  दोनों को बाहर निकाला

घटना के आधे घंटे में सारा प्रशाशनिक अमला मोके पर पहुंच गया। डेढ़ घंटे तक प्रशानिक अमला  जहरीली गैंस की आशंका के चलते ऑक्सीजन पहुंचाने का इंतज़ार कर रहे थे। आखिर कर मोके पर मौजूद थानाधिकारी रामकेश मीना ने ऑक्सीजन के इंतज़ार में अनहोनी घटने की बात कही। उन्होंने 4  बड़े रस्से मंगवा देसी तरीके से दोनों को बाहर निकालने की बात कही। लोग ट्यूबेल में जहरीली गैंस की आशंका से भयभीत थे लेकिन दो युवकों को ट्यूबेल में उतारने के लिए राजी किया। मोके पर दो युवकों ने बारी बारी से कमर में रस्सी बांध ट्यूबेल में उतरे दोनों मज़दूरों को दूसरे रस्से से बांध बाहर पुलिस कर्मियो, गोशाला स्टाफ व लोगो ने रस्सा खींच बाहर निकाल लिया।

सिटी हीरो .. सुधीर और कुलविंदर ..रिस्क ले दोनों ट्यूबेल में उतरे और मज़दूरों को बाहर निकाला

पुलिस की तैयारियों के बाद ट्यूबेल में उतरने के लिए दो युवक राजी हो गए।  कुलविंदर उर्फ गिल निवासी 5 सीसी व पदमपुर पालिका का फायरमैन सुधीर ने हिम्मत दिखाई और निडरता से कुएं में उतरे मात्र 20 मिन्ट में ट्यूबेल में अचेत दोनों मजदूरों को बाहर निकाल लिया गया। मोके पर गोशाला उपाध्यक्ष प्रेम नारंग, ईओ शेलेन्द्र गोदारा, भाजपा जिला मंत्री दीना नाथ बलाना, समाजसेवी भोजराज जैन सहित सभी लोगो  ने पुलिस के क्विक डिसीजन की प्रशंसा की वही। ट्यूबेल में उतरे दोनों युवकों को शाबाशी दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here